परीक्षाओं में पूछे गए उत्तराखंड के प्रमुख दर्रे

लिपुलेख दर्रा (Lipulekh paas):

उत्तराखंड के कुमाऊ में स्थित यह हिमालयी दर्रा पिथोरागढ़ (Pithoragarh) जिले में आता है| यह दर्रा पिथोरागढ़ जिले को तिब्बत (अब चीन) से जोड़ता है| पौराणिक समय से ही इस दर्रे का उपयोग तीर्थयात्री, व्यापारी और सेना द्वारा किया जाता रहा है| अब भी मानसरोवर यात्री  इसी दर्रे का उपयोग करते हैं|

माणा दर्रा (mana pass):

चमोली जिले में स्थित श्री बदरीनाथ धाम के पास बसे गाँव माणा से 48 किलो मीटर दूर जास्कर पर्वत श्रिंखला में माणा दर्रा बहुत पुराना दर्रा है| माणा गाँव से उत्तर में यह दर्रा स्थित है| माणा सरस्वती नदी का उद्गम स्थान भी है|

मुलिंग ला (Muling la):

उत्तरकाशी जिले में स्थित यह मुलिंग ला पौराणिक समय से ही व्यापारीयों के लिए आवगमन का प्रमुख रास्ता रहा है|

नामा दर्रा (Nama paas):

नामा दर्रा उत्तराखंड के पश्चिमी कुमाऊ क्षेत्र में पिथोरागढ़ जिले में स्थित है| यह दर्रा नामा और कुठी गाँव के बीच से गुजरता है तथापि कुठी और नामा वैली को आपस में जोड़ता है| पौराणिक समय में भारत को तिब्बत के बिच होने \वाले व्यापार के लिए यह सबसे व्यस्त दर्रा हुआ करता था और मुखत व्यापारी इसी दर्रे का इस्तेमाल व्यापार के लिए करते थे| आज बहुत कम लोगों द्वारा इस रस्ते का उपयोग होता है|

सिन ला (Sin la):

बाराहो महीने बर्फ से ढके रहने वाला यह दर्रा पिथोरागढ़ जिले के पूर्वी क्षेत्र में आता है| यह दर्रा धर्मा घाटी में बिडंग को कुठी यांक्ति घाटी में स्थित जोलिनकोंग झील को आपपास में जोड़ता है| यहा से छोटा कैलाश पर्वत भी दिख जाता है| पौराणिक समय में भोटीयाओं और तिब्बतियों के लिए व्यापार का यह एक अहम रास्ता हुआ करता था|

ट्रेल पास (Trail’s pass):

पिथोरागढ़ और बागेश्वर जिले में स्थित यह दर्रा नंदादेवी और नंदाकोट पर्वतों को आपस में जोड़ता है| पिंडर नदी के उदगम स्थल पिंडारी ग्लेशियर से यह दर्रा शुरू होता है और पिंडारी घाटी को मिलम घाटी से  जोड़ता है|

उत्तराखंड के अन्य प्रमुख दर्रे:

सांग चोके ला (Tsang Choke laa)- उत्तरकाशी (uttarakashi)

ठगा ला (Thaga laa)- उत्तरकाशी(uttarakashi)

निति दर्रा (Niti pass)- चमोली (Chamoli)

लम्पिया धुरा ला(Lampiya dhura laa)- पिथोरागढ़ (Pithoragarh)

कुंगरि बिन्गरी (Kungribingri)-चमोली (Chamoli)

केओ दर्रा(keo pass)- पिथोरागढ़ (Pithoragarh)

उत्तराखंड सपूत जिन्होंने जीते सर्वोच्च बहादुरी पुरस्कार

उत्तराखंड के प्रसिद्ध मेले जो पूछे जाते हैं परीक्षाओं में

उत्तराखंड प्रतियोगी परीक्षाओं में पूछे जाने वाली उत्तराखंड की सभी प्रमुख झीलें |

कुमाऊ मंडल के मंदिर जिनकी है चार धाम के जितनी मान्यता

Please follow and like us:

About the Author

PRIYANSHU JAKHMOLA

A "not at all serious" engineer, a technophile and a philanthropist. Knows 'f' of "few", wants to share it and grow it. Loves travelling and loves pahadi food.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *