उत्तराखंड के 10 मशहूर अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेटर जिनके बारे में आपको जरुर जानना चाहिए

ऋषभ पंत:

ऋषभ पंत उत्तराखंड के रुड़की में एक कुमाऊनी ब्राह्मण परिवार में पैदा हुए थे। उनके माता-पिता कुमाऊं क्षेत्र से हैं। वह 12 वर्ष की आयु में अपने माता-पिता के साथ रूडकी से दिल्ली चले गए थे ताकि सोनेट क्लब के कोच तारक सिन्हा से मार्गदर्शन प्राप्त किया जा सके। उत्तराखंड के क्रिकेटर  के तौर पर इन्होने अलग पहचान बनायी है| उन्होंने रणजी ट्रॉफी में दिल्ली के लिए खेले और वर्तमान में आईपीएल में दिल्ली डेयर डेविल्स टीम के लिए खेल रहें है और भारत के लिए भी खेल चुकें हैं।

एकता बिष्ट:

उत्तराखंड की पहली महिला क्रिकेटर एकता बिष्ट ही हैं| वह अल्मोड़ा जिले में पैदा हुईं। वह एक बाएं हाथ की बल्लेबाज हैं और धीमी गति से बाएं हाथ से ऑर्थोडॉक्स गेंदबाजी करती हैं। 2017 महिला विश्व कप में टीम इंडिया दुसरे स्थान पर रही थी, एकता उस टीम का भी हिस्सा थी|

मानसी जोशी:

मानसी ने नवंबर 2016 में भारतीय राष्ट्रीय टीम में चयन से शुरुआत की। वह एक दांये-हाथ की मध्यम तेज गेंदबाज है। जोशी का जन्म उत्तराखंड में उत्तरकाशी के में ब्रह्मखल नामक एक छोटे से गांव में हुआ था। 2017 महिला विश्व कप में टीम इंडिया दुसरे स्थान पर रही थी, मानसी उस टीम का भी हिस्सा थी|

पवन नेगी:

पवन नेगी मूलतः उत्तराखंड से है। उत्तराखंड के युवा क्रिकेटर की बात करी जाए तो पवन काफी मशहूर है| वह एक कुमाऊनी राजपूत परिवार में अल्मोड़ा में पैदा हुए। उनका परिवार दिल्ली चला गया, उन्होंने स्कूल के लिए और बाद में एक क्लब के लिए क्रिकेट खेलना शुरू कर दिया था। उन्हें डीडीसीए द्वारा जल्दी से मान्यता मिली और उन्हें दिल्ली रणजी टीम में शामिल किया गया। वहां से, वे दिल्ली डेयर डेविल्स, चेन्नई सुपर किंग्स और भारत के लिए भी खेल चुके हैं|

पवन सुयाल:

प्रथम श्रेणी के क्रिकेट खिलाड़ी पवन सुयाल उत्तराखंड के पौड़ी जिले के हैं। गढ़वाली परिवार में जन्मे, पवन घरेलु क्रिकेट में दिल्ली की तरफ से खेलते हैं| मुंबई इंडियनस के लिए भी खेल चुके हैं|

मनीष पाण्डेय:

मनीष कर्नाटक की राज्य टीम के लिए खेलते हैं लेकिन उनका जन्म नैनीताल जिले में कुमाउनी ब्राह्मण परिवार में हुआ था। पांडे ने बैंगलोर जाने से पहले नैनीताल में अपने बचपन के अधिकांश समय व्यतीत किया। वे आई पी एल के साथ साथ भारत के लिए भी खेलते हैं और भारत के लिए उत्तराखंड के सबसे ज्यादा मैच खेलने वाले खिलाड़ी हैं|

उन्मुक्त चंद:

उन्मुक्त चंद पिथौरागढ़ में कुमाउनी राजपूत परिवार में पैदा हुए थे। उनके माता-पिता, पिता श्री भरत चंद ठाकुर और मदर श्रीमती राजेश्वरी ठाकुर पेशे से एक शिक्षक हैं और वर्तमान में दिल्ली में बस गए हैं।

महेंद्र सिंह धोनी:

क्रिकेट की बात हो तो कोई कैसे ही महेंद्र सिंह धोनी को भूल सकता है| हालांकि, धोनी का जन्म रांची में हुआ था लेकिन उनकी जड़ उत्तराखंड की है। उनके माता-पिता कुमाऊं क्षेत्र में स्थित अल्मोड़ा जिले के लावीली गांव के हैं। हालांकि मूल रूप से धोनी उत्तराखंड के हैं लेकिन उन्हें उत्तराखंड का क्रिकेटर कहना उचित नहीं|

आर्यन जुयाल:

आर्यन जुयाल का जन्म मुरादाबाद में हुआ| मूल रूप से आर्यन हल्द्वानी के निवासी है| आर्यन को उत्तराखंड क्रिकेट एसोसिएशन ने भी समानित किया है| आर्यन 2017 अंडर 19 विश्व कप विजेता टीम के हिस्सा भी रहे| आर्यन का चयन विकेट कीपर बैट्समैन के रूप में हुआ|

कमलेश नागरकोटी:

मूल रूप से उत्तराखंड के बागेश्वर के निवासी कमलेश नागरकोटी राजस्थान के लिए खेलते हैं और हाल ही में संपन्न हुए 2017 अंडर 19 विश्व कप में इन्होने अपनी प्रतिभा दर्शाई| कमलेश लिस्ट ए क्रिकेट में हैट्रिक भी ले चुके हैं| कमलेश ने विश्व कप में लगभग 150 kmph की रफ़्तार से गेंदबाजी करी और खूब सुर्खियाँ बटोरी|

 

Please follow and like us:

About the Author

PRIYANSHU JAKHMOLA

A "not at all serious" engineer, a technophile and a philanthropist. Knows 'f' of "few", wants to share it and grow it. Loves travelling and loves pahadi food.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *